Aufsatz über Bodenverschmutzung in Hindi

Posted on by Nick

Aufsatz Über Bodenverschmutzung In Hindi




----

Essay über Umweltverschmutzung
प्रदषूण की समस्या पर 250 शब्दो का ननबन्ध लिखो।

Schreiben Sie einen Essay über Umweltverschmutzung in etwa 250 Wörtern.
पर्यावरण प्रदूषण उस स्थिति को कहते हैं जब मानव द्वारा पर्यावरण में अवांछित तत्वों एवं ऊर्जा का उस सीमा तक संग्रहण हो जो कि पारिस्थितिकी तंत्र द्वारा आत्मसात न किये जा सकें।

 
Wachsende Verschmutzung auf der Erde Hindi Essay धरती पर बढ़ता प्रदूषण
हमारी धरती आज बहुत समस्याओं से जूझ रही है I इसमें बढ़ता प्रदूषण एक गम्भीर समस्या है I आज जल प्रदूषण, थल प्रदूषण, वायु प्रदूषण और ध्वनि प्रदूषण बहुत विराट समस्या बन चुके हैं I
आज हमारे देश की नदियां बहुत प्रदूषित हो चुकी हैं, नदियों के किनारे लगे कारखाने अपना सारा कूड़ा नदियों मैं फैंक देते हैं I इससे सारी नदियां बहुत प्रदूषित हो चुकी है, कभी जीवनदायनी कहलाने वाली गंगा आज जहरीली हो चुकी है I देश में कारखानों और गाड़ियों की बढ़ती संख्य़ा से हवा भी जहरीली हो गयी है जिसके कारण लोगों में बहुत सारी बीमारियां उत्पन्न हो रही हैं I
वायु प्रदूषण और जल प्रदूषण की वजह से लोग आकस्मिक मौत मर रहे हैं I देश में प्लास्टिक के प्रयोग से मिटटी भी प्रदूषित हो रही है I इसकी उपजाऊ क्षमता बहुत कम हो रही है, फसल में रसायनिक खाद और हानिकारक कैमिकलों के प्रयोग से मिटटी की उर्वरा बहुत्षमतषमत बहुत कमजोकमजो हो गयी है Ich
मुखइसक मुख्य ककणण किसकिसनों में जजगगूकतूकत कक न होनहोन है Ich ध्वनि प्दूषणदूषण भी एक भयंकभयंक समस्यय है Ich ववहनों के बढ़ते शोशो, ललउड स्पीकपीकों के शोके सेसे शशदी समशदी समजदी समजदी सममें ोहमें दी दी के हो हो हो हो होखखसकसक बच्चे इसकइसक बहुत जल्दी शिकशिकर हो हेहे है Ich प्दूषणदूषण समस्यय को ोकनेोकने के लिए लोगोंलोगों जजगगूक होनहोन बहुत जजुुी है Ich
इन सभी समस्याओं से निजात पाने के लिए लोगों को खुद काम करना पड़ेगा जैसे प्लास्टिक का प्रयोग न करना, शादी-समारोह में डी जे आदि का प्रयोग न करना, धुंआ आदि न फैलाना, पानी में कचरा और कैमिकल न फैंकना I यदि हर व्यक्ति अपनी समस्मेदमेदीी समझे तो इन समसभयंक समस्ययओं से आसआसनी से निपटनिपट जज सकतसकत है Ich

=========
में्दूषणदूषण प्तिकूलतिकूल पपिविव्तन कक ककणण है कि प्रकृतिककृतिक ववततववण में Verunreinigungen की शुशुूआत है.





,्दूषणदूषण शोशो, गग्मी यय प्कककश के ूपूप में रसससयनिक पदपदर्थ यय जऊ्जज कक ूपूप ले सकतसकत है. प्दूषणदूषण, प्दूषणदूषण के घटकों, विदेशी तत्वों / ऊऊ्जज यय प्रकृतिककृतिक ूपूप से उत्पन्न Kontaminanten यय तो कियकिय जज सकतसकत है.
आओ प्रदूषण और उसके नियंत्रण से संबंधित कुछ बुनियादी अवधारणाओं से परिचित हो.

Umweltverschmutzung in irgendeiner Form ist schädlich und es sollten alle Anstrengungen unternommen werden, um dies zu vermeiden.

Verschmutzung kann viele Formen annehmen

  • Luftverschmutzung
  • Lichtverschmutzung
  • Littering
  • Lärmbelästigung
  • Bodenverseuchung
  • Radioaktive Kontamination
  • Wärmebelastung
  • Visuelle Umweltverschmutzung
  • Wasserverschmutzung

Die Luftverschmutzung in asiatischen Großstädten ist mit vielen vorzeitigen Todesfällen in einem Jahr verbunden.





Stark verschmutzte Flüsse, unzureichende Wasser- und Sanitärversorgung, landwirtschaftliche und industrielle Verschmutzung tragen ebenfalls zu Wasserknappheit, Gesundheitsschäden und Todesfällen bei.

LÄRMBELÄSTIGUNG


हम शोर के बारे में क्यों चिंता करनी चाहिए ?
ध्वनि प्रदूषण मनुष्य और जीवों पर एक गंभीर प्रभाव लाती है.

शोर प्रदूषण के कुछ प्रतिकूल प्रभाव नीचे संक्षेप हैं .

  • झुंझलाहट
  • मनोवैज्ञानिक प्रभाव
  • सुनवाई के नुकसान
  • मानव प्रदर्शन
  • तंत्रिका तंत्र
  • अनिद्रा
  • सामग्री को नुकसान

शोर पर नियंत्रण तकनीकों के प्रकार हैं

· स्रोत पर नियंत्रण
· संचरण पथ में नियंत्रण
· सुरक्षा उपकरण का उपयोग करना.

 

वायु प्रदूषण के प्रमुख स्रोत

  • ककर्बन मोनो आक्ससइड (CO)
  • बनकर्बन डडई आक्ससइड (CO2)
  • क्लोलोो-फ्लोलोो ककर्बन (CFC)
  • Lead (Leitung)
  • ओजोन (Ozon)
  • ननइट्ोजनोजन आक्ससइड (NEIN)
  • ड्फफ डडई आक्ससइड (SO2)

 

भारत सरकार द्वारा पर्यावरण (संरक्षण)  अधिनियम 1986 एवं इससे संबंधित नियमावली के अन्‍तर्गत ध्वनि प्रदूषण (विनियमन और नियंत्रण) नियम, 2000 बनाया गया है। इस नियम में अस्पतालों, शैक्षिक संस्थाओं और न्यायालयों के आस-पास कम से कम 100 मीटर तक के क्षेत्र को शान्त क्षेत्र/परिक्षेत्र घोषित किया गया है।





Aufmerksamkeit auf




Top

Leave a Reply